कंप्यूटर की बेसिक जानकारी हिंदी में

कंप्यूटर एक बड़े पैमाने पर दुनिया भर में इस्तेमाल होने वाला डिवाइस है, जिसका इतिहास काफी पुराना है। पहले कंप्यूटर का आकार काफी ज्यादा बड़ा था, परंतु लगातार इस पर रिसर्च की गई और नई-नई टेक्नोलॉजी का प्रयोग कर इसे बेहतर बनाया गया।

जिसकी वजह से कंप्यूटर के आकार में कमी आई और इसके बावजूद पहले के मुकाबले में यह एडवांस काम करने लगा। आज के इस आर्टिकल में हम आपको कंप्यूटर की बेसिक जानकारी देने जा रहे हैं। 

इसलिए अगर आप कंप्यूटर की सामान्य जानकारी के बारे में जानना चाहते हैं, तो आर्टिकल को अंत तक पढ़े। चलिए जानते हैं Computer Ki Basic Jankari (कंप्यूटर की बेसिक जानकारी) क्या है।

computer-ki-jankari

Computer Baisc Jankari

कंप्यूटर की बेसिक जानकारी को हिंदी भाषा में कंप्यूटर की सामान्य जानकारी कहा जाता है, जिसके अंतर्गत बहुत सारी बातें आती हैं। कंप्यूटर के बारे में बात करें, तो अभी तक इस पर काफी ज्यादा रिसर्च हो चुकी है। यही वजह है कि, आज के समय में आपको कंप्यूटर के कई प्रकार मार्केट में मिल जाते हैं।

जो एक दूसरे से काम करने की कैपेसिटी में अलग-अलग होते हैं, साथ ही उनकी प्रोसेसिंग क्षमता भी अलग-अलग होती है। हमने प्रयास करके यहां पर आपको कंप्यूटर की महत्वपूर्ण बेसिक जानकारी देने का प्रयास किया हुआ है।

कंप्यूटर क्या है?

कंप्यूटर एक प्रोग्रामेबल इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है, जो डाटा को स्टोर करता है और डाटा की प्रोसेसिंग करने का काम करता है। कंप्यूटर अकेले यह सभी काम नहीं करता है, बल्कि बहुत सारे भाग इसके साथ जुड़े हुए होते हैं। कंप्यूटर के दिमाग के तौर पर सीपीयू अर्थात सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट को जाना जाता है। 

कंप्यूटर को आदेश देने के लिए इनपुट डिवाइस जैसे की माउस, कीबोर्ड इत्यादि का इस्तेमाल किया जाता है और दिए गए इनपुट पर प्रोसेसिंग करने का काम सीपीयू के द्वारा किया जाता है तथा जो आउटपुट रिजल्ट होते हैं, वह कंप्यूटर के मॉनिटर स्क्रीन पर दिखाई पड़ते हैं। कंप्यूटर के माध्यम से गणित की कठिन से कठिन कैलकुलेशन को 1 सेकंड में कर सकते हैं।

कंप्यूटर के फायदे 

कंप्यूटर के कुछ प्रमुख लाभ निम्नानुसार हैं।

  1. कंप्यूटर के माध्यम से आप अलग-अलग ऑनलाइन काम करके पैसा कमा सकते हैं।
  2. कंप्यूटर के द्वारा नौकरी के और अन्य योजनाओं के फॉर्म को आसानी से भरा जा सकता है।
  3. कंप्यूटर रिपेयरिंग सीख कर कंप्यूटर बना करके पैसा कमा सकते हैं
  4. लोगों को कंप्यूटर के कोर्स करवा कर भी आप पैसा कमा सकते हैं।
  5. कंप्यूटर के माध्यम से आप डाटा की प्रोसेसिंग कर सकते हैं।
  6. कंप्यूटर के द्वारा विद्यार्थियों के रिजल्ट को बना सकते हैं, मार्कशीट जनरेट कर सकते हैं
  7. कंप्यूटर की सहायता से कंप्यूटर की स्क्रीन पर दिखाई दे रही चीजों को हार्ड कॉपी के तौर पर प्रिंट कर सकते हैं।

कंप्यूटर के नुकसान 

कंप्यूटर की प्रमुख हानियां निम्नलिखित हैं।

  1. कंप्यूटर का इस्तेमाल लंबे समय तक करने से आपकी आंखों में दिक्कत हो सकती है। लंबे समय तक बैठकर कंप्यूटर का इस्तेमाल करने से रीड की हड्डी में दर्द हो सकता है।
  2. कंप्यूटर का इंटरनल स्टोरेज फुल हो जाने पर या ज्यादा भर जाने पर कंप्यूटर हैंग करने लगता है।
  3. कंप्यूटर का पार्ट खराब हो जाने पर इसकी रिपेयरिंग करवाना महंगा साबित होता है।
  4. कंप्यूटर को एक जगह से दूसरी जगह पर ले जाना आसान नहीं होता है।
  5. कंप्यूटर से आपकी प्राइवेसी को भी खतरा होता है।

कंप्यूटर की फुल फॉर्म

कंप्यूटर का फुल फॉर्म निम्न अनुसार है।

  • C: Common 
  • O: Operating 
  • M: Machine 
  • P: Purposely 
  • U: Used for 
  • T: Technological and 
  • E: Educational 
  • R: Research

कंप्यूटर हार्डवेयर की परिभाषा

कंप्यूटर हार्डवेयर कंप्यूटर का फिजिकल अर्थात भौतिक डिवाइस होता है, जिसे हम देख सकते हैं और हम इसे अपने हाथों से टच भी कर सकते हैं। मॉनिटर, सीपीयू, माउस, जॉयस्टिक इत्यादि कंप्यूटर के हार्डवेयर डिवाइस होते हैं।

 इन डिवाइसेज की सहायता से हम कंप्यूटर के ऑपरेशन को इनपुट और आउटपुट के द्वारा कंट्रोल कर सकते हैं। यह सभी हार्डवेयर कॉम्पोनेंट अन्य कई कैटिगरी में डिवाइडेड है जैसे की Input Devices, Output Devices, Storage Devices, Internal Components इत्यादि।

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर की परिभाषा

सॉफ्टवेयर एक इंस्ट्रक्शन या कमांड होता है, जो कंप्यूटर को इस बात को बताने का काम करता है कि, कंप्यूटर को क्या काम करना है अथवा उसे किस पर प्रोसेसिंग करनी है। दूसरे भाषा में कहा जाए, तो सॉफ्टवेयर एक कंप्यूटर प्रोग्राम होता है जो इंस्ट्रक्शन के सेट को कंप्यूटर को देता है ताकि कंप्यूटर उस पर कार्रवाई कर सके।

कंप्यूटर कैसे काम करता है?

कंप्यूटर के काम करने की प्रक्रिया बहुत ही आसान है। कंप्यूटर से काम करवाने के लिए सर्वप्रथम यूजर के द्वारा इनपुट डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता है और कंप्यूटर को इंस्ट्रक्शन दिया जाता है। यह इंस्ट्रक्शन मिलने के बाद इस पर कार्रवाई करने का काम सीपीयू के द्वारा किया जाता है। सीपीयू इंस्ट्रक्शन पर प्रोसेसिंग करता है और प्रोसेसिंग पूरा होने के बाद जो भी रिजल्ट होते हैं वह आउटपुट के तौर पर कंप्यूटर की स्क्रीन पर दिखाई पड़ते हैं, जिसे मॉनिटर स्क्रीन कहा जाता है। इस प्रकार से कंप्यूटर काम करता है।

कंप्यूटर के प्रकार 

कंप्यूटर के कुछ प्रमुख प्रकारों की लिस्ट नीचे आपको उपलब्ध करवाई जा रही है।

  1. सुपर कंप्यूटर
  2. मेनफ्रेम कंप्यूटर
  3. मिनी कंप्यूटर 
  4. वर्क स्टेशन कंप्यूटर 
  5. पर्सनल कंप्यूटर 
  6. सर्वर कंप्यूटर 
  7. एनालॉग कंप्यूटर 
  8. डिजिटल कंप्यूटर 
  9. हाइब्रिड कंप्यूटर
  10. टैबलेट 
  11. स्मार्टफोन

सीपीयू क्या है?

सीपीयू का पूरा मतलब सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट होता है, जिसे कंप्यूटर का दिमाग भी कहा जाता है। अगर किसी कंप्यूटर से सीपीयू को अलग कर दिया जाता है तो कंप्यूटर पर आप कोई भी काम सही ढंग से नहीं कर सकेंगे, क्योंकि कंप्यूटर पर डाटा प्रोसेसिंग करने की सारी जिम्मेदारी सीपीयू के द्वारा ही निभाई जाती है। 

यहां तक कि आप जो इनपुट कंप्यूटर को देते हैं, उस पर भी सबसे पहले सीपीयू ही प्रोसेसिंग करता है। सीपीयू की गिनती कंप्यूटर के हार्डवेयर डिवाइस में होती है। सीपीयू को सीपीयू सोकेट में इंस्टॉल किया जा सकता है, जो की सामान्य तौर पर मदरबोर्ड में स्थित होते हैं। सीपीयू अलग-अलग डाटा प्रोसेसिंग प्रक्रिया को पूर्ण कर सकता है और यह डाटा भी स्टोर करने की क्षमता रखता है।

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है?

ऑपरेटिंग सिस्टम, सिस्टम सॉफ्टवेयर में शामिल होता है। सामान्य तौर पर ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा कंप्यूटर के सभी स्रोत को मैनेज करने का काम किया जाता है। एक ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर और कंप्यूटर के अलग-अलग पार्ट अथवा कंप्यूटर के अलग-अलग हार्डवेयर के बीच इंटरफ़ेस का काम करता है।

ऑपरेटिंग सिस्टम को कुछ इस प्रकार से डिजाइन किया जाता है, ताकि यह कंप्यूटर के सभी प्रकार के ऑपरेशन को मैनेज कर सके। ऑपरेटिंग सिस्टम सिर्फ कंप्यूटर में ही नहीं होता है बल्कि लैपटॉप, स्मार्टफोन, टैबलेट इत्यादि में भी ऑपरेटिंग सिस्टम होते हैं। अधिकतर मोबाइल में एंड्राइड या फिर आईओएस ऑपरेटिंग सिस्टम अवेलेबल होते हैं। इनके अलावा विंडोज, लिनेक्स, मैकिनटोश ओएस इत्यादि महत्वपूर्ण कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम है।

कंप्यूटर के शॉर्टकट बटन 

कंप्यूटर के कुछ प्रमुख शॉर्टकट बटन की जानकारी आगे आपको दी जा रही है।

शॉर्टकट बटनशॉर्टकट रिजल्ट
Alt+Fवर्तमान प्रोग्राम में फाइल मेनू ऑप्शन को ओपन करने के लिए इस बटन का इस्तेमाल होता है।
Alt+Eवर्तमान प्रोग्राम में फाइल मेनू ऑप्शन को ओपन करने के लिए इस बटन का इस्तेमाल होता है।
Alt+Tabप्रोग्राम के बीच स्विच करने के लिए इस बटन का इस्तेमाल होता है।
F1हेल्थ इनफॉरमेशन को देखने के लिए इस बटन का इस्तेमाल होता है।
F2सिलेक्ट फाइल को रिनेम करने के लिए इस बटन का इस्तेमाल होता है।
Ctrl+Dइंटरनेट ब्राउज़र में वर्तमान पेज को बुकमार्क करने के लिए सामान्यतया इस बटन का इस्तेमाल होता है।
Ctrl+Oवर्तमान सॉफ्टवेयर में फाइल ओपन करने के लिए इस बटन का इस्तेमाल होता है।
Ctrl+Aसभी टेक्स्ट को सेलेक्ट करने के लिए इस बटन का इस्तेमाल होता है।
Ctrl+Bसिलेक्टेड टेक्स्ट को बोल्ड करने के लिए या फिर बोल्ड से हटाने के लिए इस बटन का इस्तेमाल होता है।
Ctrl+Cसिलेक्टेड टेक्स्ट को कॉपी कर सकते है।
Ctrl+Vसिलेक्टेड टेक्स्ट को पेस्ट कर सकते है।

कंप्यूटर का इतिहास

जब कंप्यूटर का आविष्कार नहीं हुआ था, तब लोगों के द्वारा कैलकुलेशन करने के लिए एक चीनी अबेकस डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता था। इसका इस्तेमाल आज से लगभग 4000 साल पहले किया जाता था। अबेकस को ही दुनिया का पहला कंप्यूटर माना जाता है और यहीं से कंप्यूटर के जन्म का इतिहास शुरू होता है। 

इसके बाद आगे बढ़ते हुए समय-समय पर अन्य कई कैलकुलेशन करने वाली चीजों का आविष्कार हुआ, जैसे कि Napier’s Bones, Pascaline, Stepped Reckoner or Leibniz wheel, Difference Engine, Analytical Engine, Tabulating Machine, Differential Analyzer, Mark 1 इत्यादि। 

साल 1940 से लेकर के 1956 का जो समय था, इसे कंप्यूटर की पहली जेनरेशन का समय कहा जाता है। पहली पीढ़ी के जो भी कंप्यूटर थे, वह इस साल के दरमियान बनाए गए थे। दुनिया भर के शिक्षण संस्थानों में कंप्यूटर के फादर के तौर पर चार्ल्स बबेज का नाम सुनाया पढ़ाया जाता है।

मैं घर पर कंप्यूटर की मूल बातें कैसे सीख सकता हूं?

कंप्यूटर की बेसिक जानकारी तो हमने आपको इसी आर्टिकल में हिंदी भाषा में प्रदान करती है। इसके अलावा कंप्यूटर की मूल बातें जानने के लिए या फिर सीखने के लिए आप यूट्यूब के वीडियो का सहारा ले सकते हैं। यूट्यूब पर बहुत सारे वीडियो है, जिसमें कंप्यूटर की सभी चीजों के बारे में आपको साफ और सरल हिंदी भाषा में बताया गया है। आप चाहे तो इंटरनेट पर कोई गाइड आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।

कंप्यूटर के 4 मुख्य घटक क्या है?

कंप्यूटर के चार मुख्य घटक के नाम सीपीयू, इनपुट डिवाइस, आउटपुट डिवाइस और रैम है। सीपीयू को कंप्यूटर का दिमाग कहा जाता है। बिना इसके कंप्यूटर सही ढंग से काम नहीं कर सकता है। रैंडम एक्सेस मेमोरी कंप्यूटर को तेजी से काम करने की कैपेसिटी देती है। वही इनपुट डिवाइस के माध्यम से हम कंप्यूटर को आदेश दे पाने में सक्षम होते हैं और आउटपुट डिवाइस हमारे द्वारा दिए हुए आदेश को दिखाने का काम करते हैं।

कंप्यूटर का पूरा नाम क्या है?

कंप्यूटर को हिंदी भाषा में गणना यंत्र कहा जाता है और अंग्रेजी भाषा में इसका पूरा नाम कॉमन ऑपरेटिंग मशीन पर्पसली यूज्ड फॉर टेक्नोलॉजिकल एंड एजुकेशनल रिसर्च है। इसे आप कंप्यूटर का फुल फॉर्म भी समझ सकते हैं।

कंप्यूटर के मुख्य भाग कितने हैं?

हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर इन्हें ही कंप्यूटर के मुख्य दो भाग कहा जाता है। जानकारी के लिए बताना चाहते हैं कि, कंप्यूटर के हार्डवेयर में ऐसे भाग शामिल होते हैं, जिसे हम देख सकते हैं और जिसे हम टच कर सकते हैं। जैसे की माउस, कीबोर्ड, इलेक्ट्रिक सर्कि,ट मॉनिटर इत्यादि और सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के ऐसे भाग होते हैं, जो सही प्रकार से अपना काम करते हैं। इसके बावजूद हम इसे ना तो अपनी आंखों से देख सकते है, ना ही इसे टच कर सकते हैं।

कंप्यूटर की जानकारी – FAQs:

Q: कंप्यूटर के 51 महत्वपूर्ण प्रश्न कैसे मिलेंगे 

ANS: आप इंटरनेट से आसानी से कंप्यूटर के 51 महत्वपूर्ण प्रश्न प्राप्त कर सकते हैं।

Q: कंप्यूटर के बारे में जनरल नॉलेज की जानकारी कहां से मिलेग?

ANS: इंटरनेट से इसकी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Q: कंप्यूटर कैसा डिवाइस है?

ANS: यह एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है।

Q: कंप्यूटर का दिमाग किसे कहते हैं?

ANS: सीपीयू को कंप्यूटर का दिमाग कहते हैं।

Q: कंप्यूटर का फादर किसे कहा जाता है?

ANS: चार्ल्स बबेज को कंप्यूटर का पिता कहा जाता है।

यह पोस्ट भी पढ़े..

आज अपने क्या सीखा?

तो उम्मीद करते है आजका यह जानकारी आपको पसंद आया है और इस आर्टिकल से आपको कंप्यूटर की पूरी बेसिक जानकारी प्राप्त हो गया है, यदि आपको यह जानकारी सही में पसंद आया है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जितना हो सके शेयर करे, यदि इस आर्टिकल या कंप्यूटर से जुड़े कोई भी सवाल है तो निचे कमेंट में अपना सवाल हमसे पूछे हम आपके सही सवाल के सही जवाब देने की पूरी कोसिस करेंगे।

पोस्ट को शेयर करे:

मेरा नाम परवेज है, में एक फुल टाइम ब्लॉगर हु। मुझे लिखना और पढ़ना पसंद है साथ ही लोगो की मदद करना भी पसंद है। यदि आपको हिंदी में ब्लॉग पड़ना पसंद है तो यह ब्लॉग आपके लिए काफी मजेदार हो सकता है...

Related Posts

Leave a Comment