PG का फुल फॉर्म – PG का मतलब क्या होता है

दोस्तों कैसे हैं आप सब, आज के आर्टिकल में आप सभी का बहुत-बहुत स्वागत है, यहां मैं आपको PG के बारे में बताऊंगा और बताऊंगा कि PG का Full Form क्या होती है? PG का मतलब क्या होता है? अगर आप PG के बारे में सब कुछ जानना चाहते हैं, तो आर्टिकल को आखिर तक जरूर देखिए।

दोस्तों इस आर्टिकल में मैं आपको यह भी बताऊंगा कि PG आपके लिए क्यों इंपोर्टेंट है, और PG करने के लिए आपको बेस्ट कॉलेज कैसे ढूंढना है, पूरी जानकारी इस आर्टिकल में कवर करूंगा।

चलिए दोस्तों ज्यादा टाइम वेस्ट ना करते हुए जल्दी से जल्दी आर्टिकल को स्टार्ट कर लेते हैं और PG ka full form in hindi देख लेते हैं।

pg-ka-full-form

PG Full Form In Hindi

दोस्तों PG का फुल फॉर्मPost Graduate” या “Post Graduation” होता है।

P – POST (पोस्ट)

G – GRADUATE (ग्रेजुएट)

UG का मतलब Under Graduation होता है, UG करने के बाद ही PG होता है, दोस्तों पोस्ट ग्रेजुएशन एक प्रकार की डिग्री होती है पोस्ट ग्रेजुएशन आप अंडर ग्रेजुएशन करने के बाद ही कर सकते हैं या आप यूं कह सकते हैं कि पोस्ट ग्रेजुएशन अंडर ग्रेजुएशन के बाद आती है।

अंडर ग्रेजुएशन का मतलब यह होता है बी.ए, बी.टेक आदि डिग्रियां अंडर ग्रेजुएशन डिग्री होती है, और M.A या जिसे हम हिंदी में स्नातकोत्तर कहते हैं, यह एक पोस्ट ग्रैजुएट डिग्री है।

PG Ka Full Form Video –

PG क्या है? PG कैसे करें?

आइए दोस्तों अब जान लेते हैं कि PG क्या होता है और PG कैसे करते हैं?

दोस्तों जैसा कि हमने आपको बता दिया है कि पीडीएफ पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है जोकि अंडर ग्रेजुएशन यानी कि बैचलर ऑफ आर्ट्स या किसी भी बैचलर डिग्री के बाद किया जाता है।

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए आप ऑनलाइन और ऑफलाइन किसी भी माध्यम का सहारा ले सकते हैं इसके साथ ही आप हिंदी इंग्लिश या किसी भी और सपोर्टेड भाषा में पोस्ट ग्रेजुएशन आसानी से कर सकते हैं।

दोस्तों अगर आप पोस्ट ग्रेजुएशन करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको यूनिवर्सिटी का चुनाव करना होगा।

PG के लिए यूनिवर्सिटी का चुनाव कैसे करें?

दोस्तों अगर आप पोस्ट ग्रेजुएशन करना चाहते हैं तो सबसे पहले यह डिसाइड कर लीजिए की आपको किस स्ट्रीम से पोस्ट ग्रेजुएशन करनी है, जैसे कि आप हिस्ट्री इंग्लिश पॉलिटिक्स स्ट्रीम्स की सहायता से पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं।

अपनी स्ट्रीम डिसाइड करने के बाद पता करिए कि आप जिस कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेना चाहते हैं, क्या वहां पर पोस्ट ग्रेजुएशन में वे सब्जेक्ट पढ़ाए जाते हैं जो आप लेना चाहते हैं या नहीं।

देश के लगभग कॉलेज पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री करवाते हैं, अगर आपका कॉलेज डिग्री स्पोर्ट नहीं करता जैसे कि अगर आप हिस्ट्री में m.a. कर रहे हैं रहे हैं और आपके पास का कॉलेज केवल इंग्लिश पॉलिटी या जियोग्राफी में ही स्नातकोत्तर करवा रहा है, तो आपको ओपन यूनिवर्सिटीज की तरफ रुख करना चाहिए।

ओपन यूनिवर्सिटी के तौर पर देश में इग्नू सबसे बड़ी यूनिवर्सिटी मानी जाती है, इसका नाम इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी है, यहां से आप घर बैठे पोस्ट ग्रेजुएशन आसानी से कर सकते हैं।

PG डिग्री कितने समय की होती है?

पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री 2 साल की होती है, और इन 2 सालों में 4 सेमेस्टर पढ़ाई जाते हैं यानी कि हर 6 महीने में एक बार एग्जाम होते हैं।

अगर आप इग्नू जैसी यूनिवर्सिटी से स्नातकोत्तर करना चाहते हैं तो यहां पर आपको दो सेशन मिलते हैं, जैसे कि जुलाई सेशन और दिसंबर जनवरी सेशन अगर आप जुलाई सेशन में एडमिशन लेते हैं तो आप इसके 6 महीने बाद यानी कि फरवरी में एग्जाम फॉर्म भर के एग्जाम दे सकते हैं।

और अगर आप जनवरी-फरवरी में एडमिशन लेते हैं तो आप जून एग्जामिनेशन के लिए एग्जाम फॉर्म भर सकते हैं।

यहां पर काफी फ्लैक्सिबिलिटी रहती है, अगर आप एग्जाम की तैयारी नहीं कर पाते हैं, तो अगले सेमेस्टर के साथ एग्जाम इकट्ठे दे सकते हैं।

PG डिग्री के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए?

आप जिस प्रकार की पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री लेना चाहते हैं, यानी कि स्नातकोत्तर कि जिस डिग्री में एडमिशन लेना चाहते हैं, उसके बेसिस पर योग्यता डिसाइड होती है, लेकिन ज्यादातर मामलों में स्नातकोत्तर डिग्री के लिए स्नातक यानी की ग्रेजुएशन की डिग्री मांगी जाती है, अगर आपने अंडर ग्रेजुएशन कर ली है तो अब आप आसानी से पोस्ट ग्रेजुएशन कर पाएंगे।

दोस्तों PG डिग्री कई प्रकार की होती है, इसलिए योग्यता PG डिग्री के प्रकार पर भी निर्भर करती है आइए PG डिग्री के प्रकारों के बारे में देख लेते हैं।

PG के कितने प्रकार हैं?

दोस्तों PG डिग्री के चार मुख्य पाठ्यक्रम है, अनुसंधान, रूपांतरण, व्यवसायिक योग्यता और कुछ सिखाए गए कोर्स।

आइए इनके बारे में डिटेल में जानकारी ले लेते हैं।

Taught Course

इसमें किसी पर्टिकुलर एक सब्जेक्ट को सही से बढ़ाया जाता है यह लगभग हमारे बीए जैसा ही होता है जिसमें किसी एक सब्जेक्ट के बारे में गहन जानकारी दी जाती।

यहां आप कोई भी पाठ्यक्रम चुन सकते हैं और उसके ऊपर अच्छे से पढ़ाई कर सकते हैं, स्नातकोत्तर की डिग्री में आप कुछ ऐसा ही करते हैं।

रूपांतरण पाठ्यक्रम

रूपांतरण पाठ्यक्रम के तौर पर ऐसे विषय का अध्ययन करवाया जाता है, जिसमें स्टूडेंट को पहले से ही नॉलेज होती है, जैसे कि अगर आपका इंटरेस्ट हिस्ट्री में है तो आप हिस्ट्री को ही आगे पोस्ट ग्रेजुएशन के रूप में चुन सकते हैं इस प्रकार का पाठ्यक्रम रूपांतरण पाठ्यक्रम कहलायेगा।

अगर स्टूडेंट को किसी विशिष्ट व्यवसाय के लिए तैयार करना हो तो रूपांतरण पाठ्यक्रम सबसे बेस्ट रहता है।

रिसर्च डिग्री

अनुसंधान डिग्री डॉक्टरेट के लिए ही होती है इसका एक उदाहरण पीएचडी है जिस का फुल फॉर्म द डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी होता है, अगर आप यह हाई लेवल स्टडी करते हैं तो आपके नाम के पीछे डॉक्टर लग जाता है।

व्यवसायिक डिग्री

यह पाठ्यक्रम में किसी पर्टिकुलर उद्योग में किसी पर्टिकुलर स्किल को सुधारने के लिए पढ़ाए जाते हैं।

इस प्रकार की डिग्री का उद्देश्य ही स्टूडेंट को किसी एक पर्टिकुलर व्यवसाय में जमा देना होता है।

कुछ खास प्रकार की बिजनेस डिग्रियां भी व्यवसाय की डिग्री ही कहलाती है जो मास्टर डिग्री के अंतर्गत आती है और पोस्ट ग्रेजुएशन यानी की PG कहा जाता है।

PG डिग्री कौन-कौन से विषय से की जा सकती है?

दोस्तों पीजी डिग्री को आप बहुत से विषयों से कर सकते हैं पीजी डिग्री मैं लगभग सभी विषय शामिल कर लिए गए हैं आपका जिस भविष्य में इंटरेस्ट है आप उससे पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं।

कई मामलों में यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आपने अंडर ग्रेजुएशन किस विषय से की है, जैसे कि अगर आप ने बैचलर तक हिंदी विषय पर अधिक ध्यान दिया है और m.a. में संस्कृत लेना चाहते हैं, तो आप ले तो पाएंगे लेकिन यह आपके लिए सूटेबल नहीं होगा।

और इसी के साथ साथ अगर किसी ने अंडर ग्रेजुएशन किसी एक स्ट्रीम से किया है तो पोस्ट ग्रेजुएशन भी उसी स्ट्रीम से करना होगा, जैसे कि अगर आप आर्ट से अंडर ग्रेजुएशन यानी कि बैचलर डिग्री करते हैं तो आप पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए भी आर्ट स्ट्रीम का ही चयन करेंगे, और इसके अंतर्गत आने वाले विषयों को ही चुनेंगे।

यहां नीचे सभी विषयों की एक सूची दी गई है जिस में से किसी एक का चयन करके आप 2 साल की M.A में कर सकते हैं।

  • English
  • Hindi
  • Chemistry 
  • maths 
  • history
  • Geography 
  • economics 
  • physics
  • Psychology 
  • yoga .etc

FAQs: PG का फुल फॉर्म-

PG डिग्री में कितने सेमेस्टर होते है?

PG डिग्री कुल 2 साल की होते है और इनमे 4 सेमेस्टर होता है, यानि 6 month में एक सेमेस्टर।

PG का हिंदी अर्थ क्या है?

PG का फुल फॉर्म पोस्ट ग्रेजुएट और इसका हिंदी में अर्थ है “स्नातकोत्तर”

UG का फुल फॉर्म क्या है?

UG का फुल फॉर्म Under Graduation होता है, और Under Graduation के बाद ही PG डिग्री किया जाता है।

यह पोस्ट भी पढ़े…

आज हमने क्या सीखा?

दोस्तों कैसा लगा आपको आज का यह आर्टिकल अगर आपको जानकारी पसंद आई है तो इसे अपने करीबी साथियों के साथ साझा करना बिल्कुल ना भूलें आशा करूंगा कि आपको आर्टिकल पसंद आया होगा।

इस आर्टिकल में हमने PG full form in hindi देखा और पोस्ट ग्रेजुएशन के बारे में पूरी जानकारी हासिल की, यहां पर हमने जाना कि PG क्या होता है? किस यूनिवर्सिटी से कर सकते हैं, और कौन-कौन से विषय होते हैं?

अगर कोई जानकारी रह गई है तो मैं क्षमा चाहूंगा, आप कमेंट करके पूछ सकते हैं, मैं तुरंत रिप्लाई देकर आपके क्वेश्चन का आंसर देने की कोशिश करूंगा।

मिलती है किसी नए आर्टिकल में नए टॉपिक के साथ।

पोस्ट को शेयर करे:

मेरा नाम परवेज है, में एक फुल टाइम ब्लॉगर हु। मुझे लिखना और पढ़ना पसंद है साथ ही लोगो की मदद करना भी पसंद है। यदि आपको हिंदी में ब्लॉग पड़ना पसंद है तो यह ब्लॉग आपके लिए काफी मजेदार हो सकता है...

Related Posts

Leave a Comment