CID Ka Full Form? सीआईडी की फुल फॉर्म

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप, आज के आर्टिकल में आप सभी का बहुत-बहुत स्वागत है, इस आर्टिकल में मैं आपको बताऊंगा कि CID क्या होती है? और CID Ka Full Form (Cid की फुल फॉर्म) क्या होती है?

दोस्तों इंडिया में सीआईडी को लोग सोनी टीवी पर आने वाले एपिसोड से जानते हैं सोनी टीवी पर आने वाला सीआईडी एपिसोड बहुत मशहूर है, जिसकी वजह से हर एक के मन में यह ख्याल रहता है कि आखिर सीआईडी की फुल फॉर्म क्या होती है, और यह ब्रांच किस काम आती है और यह केवल नाटक में ही है या हकीकत में भी सीआईडी जैसा कुछ होता है, इस आर्टिकल में हम सीआईडी के बारे में पूरी जानकारी कवर करेंगे।

यहां मैं आपको सीआईडी का पूरा नाम बताऊंगा और यह भी बताऊंगा कि सीआईडी ऑफिसर कैसे बनते हैं? और सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए।

दोस्तों यह आर्टिकल कंपलीट पढ़ने बाद आपको सीआईडी के बारे में पूरी जानकारी पता चलेगी, इसलिए आर्टिकल को बीच में बिल्कुल भी मत छोड़िए तो चलिए दोस्तों समय बर्बाद ना करते हुए जल्दी से जल्दी देख लेते हैं कि CID full form in hindi

cid-ka-full-form

CID Ka full form in Hindi

दोस्तों सीआईडी का मतलब “क्राइम इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट” होता है।

CID – Crime Investigation Department

C – Crime

I – Investigation

D – Department

आप क्राइम इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट को हिंदी में अपराध जांच विभाग भी कह सकते हैं।

दोस्तों कई लोगों का यह सवाल होता है कि क्या सीआईडी केवल नाटक में ही है या हकीकत में भी सीआईडी जैसा कुछ होता है, तो दोस्तों आपको बता दूं कि भारत में भी क्राइम इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट है, और बिल्कुल उसी तरह से काम करता है जैसे फिल्मों में करता है।

आइए दोस्तों सीआईडी के बारे में संक्षेप जानकारी ले लेते हैं।

CID Ka Full Form वीडियो में जाने –

CID क्या होती है? और इसमें ऑफीसर कैसे बनें?

दोस्तों हर देश में अपराध को कम करने के लिए और विभिन्न प्रकार के संगीन अपराधों की जांच करने के लिए किसी संगठन की जरूरत होती है, भारत में अपराध की जांच करने के लिए कई प्रकार के संगठन कार्यरत हैं जैसे कि सीबीआई क्राइम ब्यूरो भी एक जांच एजेंसी है।

लेकिन सीआईडी का काम काफी शंकरा होता है जहां सीबीआई बहुत बड़े लेवल पर काम करती है, उसी प्रकार सीआईडी एक छोटे शहर या स्टेट को हैंडल करती है और वहां पर बढ़ रहे अपराधों को कम करने और अपराध की जांच करने का काम करती है।

दोस्तों यह पुलिस का ही एक अलग विभाग होता है यानी कि सीआईडी एक प्रकार की पुलिस ही होती है, लेकिन यह स्पेशली क्राइम की जांच करने के लिए बनाया गया विभाग है, जो की हो चुकी दुर्घटना के गहराई तक जाने का काम करती है, इसका काम अलग-अलग प्रकार से सबूतों को ढूंढना होता है और घटना की असली वजह और अपराधी को चिन्हित करना होता है।

यह विभाग एडीजीपी यानी कि एडीशनल डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस के नीचे काम करता है, यहां निर्देशन का काम एडीजीपी का होता है, दोस्तों अगर आपको कुछ एडिशनल इंफॉर्मेशन देने की कोशिश करूं तो आपको बता दूं कि जैसा कि आप फिल्मों में देखते हैं बिल्कुल उसी प्रकार से सीआईडी की कोई वर्दी नहीं होती, यह गुप्त तरीके से काम करते हैं और अपराधी को ढूंढने में माहिर होते हैं।

CID के स्थापना कब और किसने की?

दोस्तों cid की स्थापना 1902 में ब्रिटिश सरकार द्वारा की गई थी, सीआईडी का मुख्यालय पुणे शहर में स्थित है, सीआईडी की स्थापना अंग्रेजों द्वारा की गई थी, लेकिन देश की आजादी के बाद इसके मूल्य को समझते हुए सरकार ने इस को आगे भी जारी रखा और इसमें कुछ सुधार भी किए।

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए योग्यता

दोस्तों अगर आप सीआईडी ऑफिसर बनना चाहते हैं तो आपको बता दूं कि केवल भारत के नागरिक ही सीआईडी ऑफिसर बन सकते हैं, क्योंकि भारत सरकार नहीं चाहती कि कोई बाहर का लोग खुफिया एजेंसी में काम करें।

Study

अगर आप सीआईडी विभाग में सब इंस्पेक्टर बनना चाहते हैं तो आपको कम से कम स्नातक पास करनी होगी।

लेकिन अगर आप कॉन्स्टेबल या किसी छोटे पद पर भर्ती होना चाहते हैं, तो 10वीं और 12वीं के लिए भी भर्तियां निकलती है आप इनमें अप्लाई कर कर सकते हैं।

दोस्तों यह प्रोसेस तो केवल अप्लाई करने के लिए है अगर आप सही में सीआईडी ऑफिसर बनना चाहते हैं तो आपको भारतीय सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी जो कि संघ लोक सेवा आयोग द्वारा करवाई जाती है, यह परीक्षा साल में एक बार जरूर होती है, इसलिए आप इसकी तैयारी कर सकते हैं।

Physical

दोस्तों सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए फिजिकल भी होता है, और अगर आप सीआईडी ऑफिसर बन जाते हैं तो उसके बाद आपकी एक सख्त ट्रेनिंग भी होगी, इसलिए आपको शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत भी होना होगा। 

सरकार चाहती है कि एक अच्छे सीआईडी ऑफिसर में कई प्रकार के गुण होने चाहिए, एक अच्छे सीआईडी ऑफिसर को तेज बुद्धि वाला होना चाहिए, नजरें काफी तेज होनी चाहिए और लचीला और फुर्तीला शरीर होना चाहिए।

और आप शारीरिक रूप से अपंग या किसी भी प्रकार की डिसेबिलिटी नहीं होनी चाहिए।

Other

दोस्तों शारीरिक रूप से मजबूत और मानसिक रूप से सही होने के साथ सरकार चाहती है कि जो भी सीआईडी ऑफिसर बने उसका चरित्र भी ठीक हो, जैसा कि आपको पता है अगर आपके नाम कोई क्राइम है तो आप किसी भी प्रकार की सरकारी नौकरी हासिल नहीं कर सकते, बिल्कुल उसी प्रकार से सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आपको एक साफ-सुथरी छवि वाला इंसान होना चाहिए।

इसलिए हम यह कह सकते हैं कि आप दो प्रकार से सीआईडी ऑफिसर बन सकते हैं, आप चाहे तो यूपीएससी क्लियर करके डायरेक्ट सीआईडी ऑफिसर बन सकते हैं या आप पुलिस ऑफिसर बन कर भी सीआईडी को ज्वाइन कर सकते हैं।

CID ऑफिसर बनने का प्रॉसेस

आप डायरेक्ट सीआईडी ऑफिसर नहीं बन सकते सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आपको पहले पुलिस या कोई पैरामेडिकल फोर्स को ज्वाइन करना होगा।

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आपको काफी मेहनत करनी पड़ती है, आपको पहले पुलिस विभाग ज्वाइन करना होगा और जब आप इस विभाग में अपनी अच्छी परफॉर्मेंस देंगे तो आपको आगे खुफिया विभाग में शामिल कर लिया जाएगा, जो कि सीआईडी के तौर पर काम करती है और आप एक असल के सीआईडी ऑफिसर कहला पाएंगे।

लेकिन ध्यान रखिए कि सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आपको पहले ग्रेजुएशन कंप्लीट कर लेनी चाहिए, क्योंकि ग्रेजुएशन के बाद आपको पुलिस विभाग में एक अच्छे पद पर नौकरी मिलती है जहां पर आप अपनी क्षमता का प्रदर्शन कर सकते हैं और आगे चलकर सीआईडी में हिस्सेदारी ले सकते हैं।

और दोस्तों ग्रेजुएशन करने के यह भी फायदे हैं कि आप ग्रेजुएशन करने के बाद यूपीएससी के जरिए डायरेक्ट भी सीआईडी ज्वाइन कर सकते हैं।

CID ऑफिसर की सैलरी

दोस्तों सीआईडी विभाग में कई प्रकार के ब्रांचचेंज होते हैं, यहां पर क्राइम ब्रांच नारकोटिक ब्रांच और अन्य बहुत सारी ब्रांचचेज होती हैं।

सभी ब्रांचीज में अलग-अलग प्रकार के अधिकारी होते हैं और इनकी सैलरी भी अलग-अलग होती है, उन एवरेज आपको अगर बताऊं तो आप सीआईडी विभाग में 70000 भारतीय रुपए से लेकर डेढ़ लाख भारतीय रुपए तक आसानी से सैलरी पा सकते है।

दोस्तों जैसा कि आपको पता है कि किसी भी सरकारी नौकरी में फायदा ही फायदा होता है, उसी प्रकार से सीआईडी ऑफिसर बनने पर भी आपको सैलरी के अलावा बहुत सारे फायदे होते हैं, जैसे कि आपको अलग-अलग प्रकार के भत्ते भी मिलते हैं और कई प्रकार की चीजों में काफी भारी मात्रा में छूट मिल जाती है।

यहां पर आपके बच्चों का पढ़ाई का खर्चा भी सरकार उठाती है और महंगाई भत्ते के तौर पर भी आपको काफी भारी मात्रा में पैसे मिलते हैं।

एक ओहदे वाला सीआईडी ऑफिसर बनने पर आपको सरकार द्वारा गाड़ी और रहने के लिए घर भी दिया जाता है, सीआईडी ऑफिसर के बच्चों की शादी होने के समय भी कई प्रकार के भत्ते मिलते हैं, और रिटायरमेंट के समय भी पेंशन बहुत अच्छी होती है।

इसके अलावा अगर बात करें तो ऑफिसर के खुद के सारे खर्चे सरकार उठाती है, जैसे कि सीआईडी ऑफिसर का हेल्थ इंश्योरेंस सरकार करवाए रखती है और हर प्रकार के मेडिकल खर्चे सरकार देती है, यहां तक कि घर में अगर किसी को कोई परेशानी हो तो भी मेडिकल खर्चा सरकार देगी।

FAQs:

सीआईडी का हिंदी फुल फॉर्म क्या है?

सीआईडी का हिंदी में पूरा नाम है है ” क्राइम इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट

क्या हर कोई CID बन सकता है?

जी बिलकुल यदि आप एक भारतीय नागरिक है तो आप भी इसका पढ़ाई करके CID बन सकते है।

यह भी पढ़े…

आज हमने क्या सीखा?

तो दोस्तों आजके इस पोस्ट में हम CID Ka Full Form और CID क्या है CID कैसे बने इन सभी के बारेमे में जानने की कोसिस की है, यदि आपको CID के बारेमे हमारा यह जानकारी पसंद आया है तो कृपा करके इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करे। यदि CID का फुल फॉर्म से जुड़े कोई भी सवाल आपके मनमे है तो निचे कमेंट में बताया हम आपके सवाल के जवाब देने की कोसिस करेंगे।

पोस्ट को शेयर करे:

मेरा नाम परवेज है, में एक फुल टाइम ब्लॉगर हु। मुझे लिखना और पढ़ना पसंद है साथ ही लोगो की मदद करना भी पसंद है। यदि आपको हिंदी में ब्लॉग पड़ना पसंद है तो यह ब्लॉग आपके लिए काफी मजेदार हो सकता है...

Related Posts

Leave a Comment