BMW कंपनी का मालिक कौन है और यह किस देश का है

क्या आप इसका जवाब जानते हैं या जानने के लिए बेसब्री इंतजार कर रहे हैं और इसी इंतजार में गूगल पर कई पेज सर्च कर चुके हैं लेकिन उसके बावजूद पर्याप्त जवाब न मिलने पर फिर से सर्च कर रहे हैं तो आप बिलकुल भी देरी न करें यह पोस्ट में BMW का मालिक कौन है? BMW किस देश का है? उसका जवाब मिल जाएगा।

दोस्तों हम सभी ने यह जरूर पढ़ा होगा कि जिंदगी में तीन चीज बेहद जरूरी है जीने के लिए वे है “रोटी, कपड़ा और मकान” लेकिन समय के साथ साथ इसमें कुछ और चीजें भी जुड़ी हैं उनमें से एक जरूरी चीज है ‘कार’। चार पहियों वाली यह मोटर से चलने वाली गाड़ी खरीदना भी आज के वक्त में जरूरी समान बन चुका है। आपके पास जो कार हो उसी से आपका स्टैण्डर्ड की रूपरेखा बनाई जाती है और उसी के मुताबिक इज्जत भी मिलती है।

दोस्तों बचपन में सभी को कार वाले खिलौने जरूर मिले होंगे कई जो अभी बचपन अपना जी रहे हैं उनको अभी भी मिलते होंगे। यही चंचल मन में कार खरीदने की इच्छा उतपन्न करता है। इसी के मुताबिक लोग अपना फ्यूचर में सक्सेस होने के लिए रोडमैप बनाते हैं कि “मैं जब यह कार खरीद लूंगा तो खुद को successfull मानूंगा।” इसी तर्ज पर वे अपनी ड्रीम कार की फ़ोटो हर जगह लगाते हैं पोस्टर के रूप में तो कई कंप्यूटर/लैपटॉप की स्क्रीन पर तो कुछ अपने मोबाइल पर भी ताकि वह अपने सपने को कभी भूले न।

ड्रीम कार की लिस्ट में यूं तो काफी ब्रांड की कारें लोगों की Favourite में जगह बनाते हैं जैसे कि मर्सेडीज, ऑडी, जैगुआर, इतियादी इसी लिस्ट में एक होर कार मैन्युफैक्चरिंग कंपनी का नाम आता है वे है BMW Car, इस पोस्ट में हम इसी कंपनी के बारे में आपको विस्तार से बताएंगे।

bmw ka malik kon hai

BMW Car का मालिक कौन है?

BMW Car Company को तीन लोगों ने मिलकर स्टार्ट किया था। इनके नाम है :- Camillo Castiglioni, Franz Josef Popp और Karl Rapp, इन्होंने जर्मनी के munich में इस कंपनी की स्थापना साल 1916 में की थी। यानी अब जो भी पूछे BMW ka Malik Kon hai? तो इसके जवाब में आप इन तीनों का नाम ले सकते हैं। क्योंकि चाहे कंपनी को कोई भी हेड करें लेकिन जिन्होंने कंपनी को बनाया है वे ही मुख्य मालिक के रूप में गिने जाएंगे। हालांकि अगर वर्तमान की बात करें तो BMW Ka Malik आज के वक्त में पूरी तरह से कोई नहीं है दरअसल कंपनी के 29 प्रतिशत शेयर Stefan Quandt का है और 21 प्रतिशत हिस्सा Susanne Klatten का है बाकी के बचे 50 परसेंट पब्लिक इन्वेस्टर के पास थोड़ा थोड़ा है। लेकिन कंपनी एक्ट के मुताबिक कंपनी का मालिकाना हक उसी का माना जाएगा जो कंपनी में 51 प्रतिशत का हिस्सा रखता हो। लेकिन इस सिचुएशन में किसी के पास भी 51 प्रतिशत हिस्सा नहीं है।

BMW Car Company केवल कार ही नहीं बनाती बल्कि प्रीमियम मोटरसाइकिल और साथ ही इन प्रीमियम व्हीकल के इंजन का निर्माण भी अपने प्लांट में करता है। BMW की कार पूरी दुनिया में अपने स्टाइल और लुक के लिए जानी जाती है। लेकिन अपने प्रोडक्ट की बेहतरीन क्वालिटी के कारण इन कारों के दाम काफी ज्यादा होते हैं यही कारण है कि रॉड पर चल रही 100-200 गाड़ियों का जत्था भी जा रहा हो तो भी उसमें से BMW की कारों की गिनती न के बराबर ही देखने को मिलती है।

BMW Car Company ki History

अब से तकरीबन 105 साल पहले 7 मार्च 1916 को जर्मनी के munich में इस कंपनी की नींव रखी गई लेकिन तब इसका नाम BMW नहीं बल्कि Bayerische Flugzeugwerke AG था। जिसे बाद में साल 1922 को इसका नाम बदल कर Bayerische Motoren Werke रखा गया यही BMW का फुल फॉर्म है। यह नाम असल में सबसे पहले Karl Rapp ने इस्तेमाल किया था। साल 1913 में Karl Rapp ने Rapp Motorenwerke GmbH नामक कंपनी का नाम बदल कर 1917 में Bayerische Motoren Werke Gmbh रख दिया गया था।

BMW कंपनी शुरू में एयरक्राफ्ट इंजन बनाता था जो कि 1917 में कंपनी ने इंजीनियर Max Friz की मदद से बनाए थे। लेकिन उस दौरान पहला विश्व युद्ध लड़ा गया उसके खत्म होने के बाद किसी कारण कंपनी ने एयरक्राफ्ट इंजन बनाना छोड़ दिया और पूरी तरह से ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में खुद को झोंक दिया। कंपनी शुरुआत में मोटरसाइकिल इंजन, फार्म इक्विपमेंट, रेलवे ब्रेक्स इतियादी का प्रोडक्शन करने लगे। साल 1923 में कंपनी ने अपने ब्रांड तले BMW Bike को मार्किट में R 32 के नाम से लांच कर दिया था। इसके बाद कंपनी ने साल 1928 से पूरी तरह से ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर के रूप में गिने जाने लगे।

BMW कार कहाँ कहाँ प्रोड्यूस होती है।

दोस्तों यूं तो BMW Car Company का हेडक्वार्टर जर्मनी में स्थित है लेकिन इसकी डिमांड और इसके ब्रांड तले बनने वाले कारों के प्रति लोगों का इतना ज्यादा क्रेज है कि यह कार जर्मनी के अलावा भारत, ब्राजील, चीन, दक्षिण अफ्रीका, और अमेरिका जैसे बड़े देशों में भी अपना व्यापार करता है।

BMW कार के बारे में कुछ अमेजिंग फैक्ट्स

● पहले कंपनी एयरक्राफ्ट इंजन बनाने के लिए फेमस था।
● कंपनी ने अपनी बनाई गई अपनी पहली कार का नाम ‘Dixi’ रखा था।
● कंपनी ने 1972 में इलेक्ट्रॉनिक कार बनाने में भी अपना कदम रख दिया था लेकिन कार की कमजोर परफॉर्मेंस के कारण मार्किट में नहीं लांच किया था। कार का नाम BMW 1602e था।
● Rolls Royce नाम आपने भी सुना होगा यह भी BMW कंपनी का ही हिस्सा है।
● साल 1937 में कंपनी ने सबसे फ़ास्ट स्पीड की बाइक का इजात किया जिसकी टॉप स्पीड 279 किलोमीटर प्रति घंटा थी।

आज हमने क्या सीखा?

दोस्तों तो यह था BMW यानी लोगों की पसंदीदा कार बनाने वाली कंपनी के बारे में जानकारी। 105 साल पुरानी यह कंपनी लोगों के ड्रीम कार मैन्युफैक्चरिंग में शामिल हैं। उम्मीद है आपको इस कंपनी के बारे में काफी नॉलेज मिला होगा। इस पोस्ट के अंत में आप सभी को यही कहना चाहेंगे कि अपने ड्रीम को कभी न छोड़े उसको हकीकत बनाने के लिए कड़ी मेहनत करें क्या पता एक दिन आपके पास आपकी पसंदीदा BMW Car जल्द हो।

Leave a Comment